-->
Jobs Image 2

कोरोना वायरस महामारी के चलते दुनिया के बाकी देशों की ही तरह भारत में भी अर्थव्‍यवस्‍था को खासा नुकसान झेलना पड़ा. कई लोगों को इसकी वजह से अपनी नौ‍करियों से हाथ धोना पड़ा है. 


खबरों के लगातार अपडेट के लिए जुड़ें👇🏻👇🏻 https://chat.whatsapp.com/LqtnkFbjXiMBX6C6eNCgQ

इन सबके बीच अमेरिकी आईटी कंपनी कॉग्निजैंट की तरफ से नौकरी का इंतजार कर रहे कई यंगस्‍टर्स को लिए गुड न्‍यूज आई है. कंपनी की तरफ से बताया गया है कि वो इस साल भारत में करीब एक लाख लोगों को हायर करने पर विचार कर रही है.


कंपनी को हुआ है बड़ा फायदा

कॉग्निजैंट की तरफ से कहा गया है कि जून महीने के तिमाही में उसे 41.8 फीसदी का फायदा हुआ हे. इसकी वजह से उसकी कुल आय 512 मिलियन डॉलर या 3,801 करोड़ रुपए तक पहुंच गई है. कंपनी की तरफ से उम्‍मीद जताई गई है कि इस साल वो करीब एक लाख लोगों को नौकरी देने पर विचार कर रही है. जून 2020 में कंपनी को 361 मिलियन डॉलर की आय हुई थी. इसकी वजह से वित्‍त वर्ष 2021 में उसके राजस्‍व में भी 10.2 से 11.2 फीसदी का इजाफा हुआ था. कंपनी की तरफ से इसे असाधारण तरक्‍की करार दिया जा रहा है. कंपनी का राजस्‍व 14.6 फीसदी से बढ़कर 4.6 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया है. एक साल पहले ये आंकड़ा 4 बिलियन डॉलर था.


लगातार बढ़ती क्‍लाइंट डिमांड

कॉग्निजैंट ने इस समय भारत में 2 लाख लोगों को रोजगार दिया हुआ है. कंपनी के सीईओ ब्रायन हम्‍फरीज ने कहा कि दूसरी तिमाही में कंपनी ने शानदार प्रदर्शन किया है. अब कंपनी अपनी क्षमताओं में इजाफा करके और साझेदारी के जरिए तेजी से बढ़ते बाजार में टारगेटेड निवेश के जरिए अपने कदम और मजबूत करना चाहती है ताकि ग्राहकों की ज्‍याद से ज्‍यादा मदद हो सके और मॉर्डन बिजनेस का निर्माण हो सके. ब्रायन के मुताबिक वो ज्‍यादा क्षमतावान कॉग्निजैंट को व्‍यवसायिक अभूतपूर्व पल के साथ आगे बढ़ता हुआ देख रहे हैं. कंपनी के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर जेन सिग्‍मंड ने कहा कि बड़ी क्‍लाइंट डिमांड को सेवाओं के लिए पूरा करने के मकसद से कंपनी ने अपनी रिक्रूटिंग क्षमताओं को बढ़ाने का फैसला किया है. उन्‍होंने कहा कि कंपनी अब लोगों में निवेश करना चाहती है.


साल 2022 में भी मिलेंगे ऑफर्स

कंपनी के मुताबिक जून की 1 के अंत तक उसने दुनियाभर में 3 लाख से ज्‍यादा लोगों को रोजगार दिया हुआ है. ब्रायन हम्‍फरीज ने कहा है कि 2021 के अंत तक कंपनी करीब 100,000 लोगों को हायर करने की योजना बना रही है. इसके अलावा करीब 100,000 एसोसिएट्स को कंपनी की तरफ से ट्रेनिंग भी मुहैया कराई जाएगी. कॉग्निजैंट साल 2021 में नए ग्रेजुएट्स को हायर करने के बारे में सोच रही है. इसके अलावा साल 2022 में नए 45,000 ग्रेजुएट्स को जॉब ऑफर देने की उसकी योजना है.


जूनियर और मिड लेवल पर जरूरत

कंपनी के मैनेजमेंट का मानना है कि जूनियर या मिड लेवल पर उसे लोगों की जरूरत है. न सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया में इन पदों के लिए नए लोगों की जरूरत कई कंपनियों को है. हम्‍फरीज ने कहा कि कंपनी ने पिछले कुछ माह में पॉलिसी शिफ्ट के बारे में ऐलान किया है. अब कंपनी की तरफ से क्‍वार्टरली प्रमोशन साइकिल को रिसोर्स करने के अलावा जॉब रोटेशंस और री-स्किलिंग इनीशिएटिव्‍स पर विचार किया जा रहा है. साल 2019 से कंपनी की तरफ से 2 बिलियन डॉलर्स से ज्‍यादा की रकम मर्जर्स में खर्च की जा चुकी है.



अधिक से अधिक दोस्तों को शेयर करें 👇🏻👇🏻