-->

 


प्रेम-प्रसंग के चलते युवती की हत्या कर मंगलवार की देर रात उसका गुप-चुप तरीके से शमशाम घाट में अंतिम संस्कार किया जा रहा था।



खबरों के लगातार अपडेट के लिए जुड़ें👇🏻👇🏻 

https://chat.whatsapp.com/KuSk9OxbSVt7jRkDOz1rS4

इस बारे सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची और फायर ब्रिगेड की मदद से चिता की आग को बुझाकर शव को बाहर निकाला और उसे कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतका का शव काफी हद तक जल चुका है। इस मामले में पुलिस ने मृतका के पति अनूप कुमार की शिकायत पर हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में गांव धांगड़ निवासी अनूप कुमार ने कहा कि उसने गांव की ही लड़की शिक्षा के साथ हनुमान मंदिर हिसार व हिसार कोर्ट में शादी की थी। शादी के बाद वह और उसकी पत्नी शिक्षा दोनों अपने-अपने घर रहने लगे थे।

इसके दो माह बाद शिक्षा की नौकरी चण्डीगढ़ में फिलिप्स कम्पनी में लग गई थी। इसके एक माह बाद वह भी अपनी पत्नी शिक्षा के पास चण्डीगढ़ चला गया और दोनों वहां किराये के मकान में साथ रहने लगे। कुछ माह पहले शिक्षा के परिवारवालों को उन दोनों के शादी करने के बारे में पता चला था। इसके बाद शिक्षा ने भी अपने माता को सब कुछ बता दिया था।

उसके बाद शिक्षा के घरवालों ने भी उसे घर आने और दोनों की सामाजिक तौर पर शादी करवाने की बात कही। अनूप ने कहा कि इसके बाद वह शिक्षा के साथ शाम करीब 6 बजे अपने गांव धांगड़ आ गए। इसके बाद मंगलवार शाम को करीब पौने 6 बजे उसकी बहन ने उसे फोन कर बताया कि शिक्षा की मौत हो चुकी है और उसके परिवार के लोग उसका अंतिम संस्कार करने के लिए शव को लेकर जा रहे हैं।

इस पर उसने इस बारे डायल 112 पर फोन कर सूचना दी। अनूप द्वारा सूचना मिलते ही पुलिस की टीम गांव के शमशान घाट में पहुंच गई और पाया कि मृतका का शमशाम घाट में अंतिम संस्कार किया जा रहा था। इस पर पुलिस ने फायर बिग्रेड की मदद से आग को बुझाकर बुरी तरह जल चुके शव को बाहर निकाला और उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

इस बारे सूचना मिलने पर सीन ऑफ क्राइम टीम फतेहाबाद के इंचार्ज डॉ. जोगिन्द्र सिंह की टीम ने भी मौके पर पहुंच साक्ष्य जुटाए वहीं नायब तहसीलदार विकास, नागरिक अस्पताल फतेहाबाद से डॉ. नवीन कुमार भी मौके पर पहुंच गए थे। मृतका शिक्षा के पति अनूप का आरोप है कि शिक्षा के परिवार वालों ने उसकी शादी से नाखुश होकर उसकी हत्या कर शव को खुर्द-बुर्द करने की नीयत से अंतिम संस्कार करने की कोशिश की है।

शिक्षा की हत्या में उसके माता-पिता के अलावा चाचा व परिवार के अन्य सदस्य शामिल हैं। इस मामले में पुलिस ने मृतका के पिता महेन्द्र सिंह के अलावा सुंदर, कालू, आत्माराम व अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या के आरोप में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।



अधिक से अधिक दोस्तों को शेयर करें 👇🏻👇🏻