-->


बालोद : बालोद जिले के बालोद ब्लॉक के ग्राम सांकरा( ज) की एक छात्रा ने बिलासपुर में एक निजी होस्टल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। घटना सोमवार को दोपहर 12 बजे के आसपास की है। छात्रा बिलासपुर में पीएससी की तैयारी के लिए कोचिंग करती थी।  उसकी सहेलियों ने कमरे में उसे फंदे पर लटकते देखा, तब उसके सुसाइड करने का पता चला। बताया गया कि वह सुबह के वक्त कोचिंग भी गई थी। इसके बाद जब वह लौटी, तब उसने खुदकुशी की है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। घटना सिटी कोतवाली बिलासपुर थाना क्षेत्र की है।
 
पुलिस व स्थानीय ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार, बालोद के सांकरा ज की रहने वाली नेहा देशमुख (23 साल) पिता मुरली देशमुख एमएससी की पढ़ाई के बाद प्रतियोगी परीक्षा के साथ ही छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग परीक्षा की भी तैयारी कर रही थी। वह पिछले 5-6 महीने से से सिटी कोतवाली क्षेत्र के दयालबंद स्थित पंजाबी कॉलोनी के एक निजी हॉस्टल में रूम लेकर रहती थी और कोचिंग क्लास अटेंड करती थी। वहीं एक दिन पहले ही वह अपने गृहग्राम सांकरा से लौटी थी। जहां वह पिछले हफ्ते बीएड की ऑनलाइन परीक्षा दिलाने आई थी। परिवार के लोग इस घटना से स्तब्ध हैं। किसी को कुछ समझ में नहीं आ रहा है कि आखिर नेहा ने इतना बड़ा कदम क्यों उठाया। इधर सोमवार को भी नेहा कोचिंग के लिए सुबह गई थी। वहां से वह 11 बजे के आस-पास लौटकर आ गई थी। बाहर हाथ-मुंह धोने के बाद वह कमरे में चले गई। फिर उसका कुछ पता नहीं चला। उसकी सहेलियों ने दरवाजा भी खटखटाया, पर कोई जवाब नहीं मिला। उन्होंने हॉस्टल मालिक को इसकी जानकारी दी। 

उन्होंने हॉस्टल मालिक के साथ खिड़की से झांककर देखा, तब नेहा अपनी चुनरी के फंदे पर झूल रही थी। उसके जीवित होने की उम्मीद से उन्होंने आनन-फानन में फंदा काटकर नीचे उतारा, तब तक पुलिस के डायल 112 को भी बुला लिया था। नेहा की रिश्तेदार पवन कुमार देशमुख बिलासपुर पुलिस लाइन में हेडकांस्टेबल हैं। उन्होंने बताया कि उन्हें नेहा के भाई अरविंद देशमुख ने मोबाइल से जानकारी दी कि वह हॉस्टल में कमरा बंद कर फांसी लगा ली है। उनके कहने पर पवन देशमुख पंजाबी कॉलोनी स्थित हॉस्टल पहुंचे, जहां नेहा को फंदे से नीचे उतार लिया गया था। इसके बाद उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। पवन देशमुख ने बताया कि नेहा पढ़ाई में होनहार थी। उसने यह आत्मघाती कदम क्यों उठाया, इसकी जानकारी नहीं है। बालोद के ग्राम सांकरा ज से नेहा के परिजनों को बुलाया गया है। नेहा ने जिस कमरे में फांसी लगाई है, उसे पुलिस ने सील कर दिया है। परिजनों की मौजूदगी में कमरा खोलकर तलाशी ली जाएगी। जांच के बाद ही उसके आत्महत्या के कारणों का पता चल सकेगा। घटना की वजह क्या परीक्षा का तनाव था या कोई और वजह, अभी कुछ स्पष्ट नहीं है। 

खबरों के लगातार अपडेट के लिए हमसे जुड़ें 👇🏻👇🏻



अधिक से अधिक दोस्तों को शेयर करें 👇🏻👇🏻