-->

 


रायपुर के एक कांस्टेबल ने ईमानदारी की मिसाल कायम की है। अगर किसी के सामने लावारिस हालत में लाखों रुपयों से भरा बैग आ जाए तो नियत डोल जाती, मगर वर्दी में लोगों की सेवा की शपथ ले चुके रायपुर के पुलिसकर्मी का ईमान अटल था। उसने रुपयों भरे बैग की जानकारी डिपार्टमेंट के अफसरों को दी। रुपयों से भरा बैग भी जांच के लिए सौंपा अब अफसरों ने इस पुलिसकर्मी को सम्मानित करने की बात कही है।

रायपुर ट्रैफिक पुलिस में पदस्थ आरक्षक निलाम्बर सिन्हा सुबह एयरपोर्ट के पास सड़क पर ड्यूटी कर रहे थे। कुछ देर बाद नाश्ता करने एयरपोर्ट से माना कैम्प जा रहे थे। इसी दौरान एक आदमी मिला, उसने निलाम्बर से कहा कि राय पब्लिक स्कूल के सामने रोड में एक लावारिस बैग पड़ा है। निलांबर मौके पर पहुंचे तो एक सफेद रंग का बैग मिला। इसके पास के ऑटो वाला खड़ा था। वह बैग से कुछ निकालने की कोशिश में थे लेकिन निलाम्बर को देखकर भाग गया।

जब बैग के करीब निलाम्बर पहुंचे तो देखा कि बैग के अंदर अलग-अलग बण्डलों में 2000 और 500 के नोट रखे थे। निलाम्बर ने फौरन जानकारी बड़े अफसरों को दी। उसने बैग पुलिस कंट्रोल रूम में लाकर जमा करवाया। चेक करने पर पता चला कि बैग में 45 लाख रुपए हैं। निलाम्बर ने बताया कि बैग के पास खड़े ऑटो वाले ने इसमें से एक बंडल चोरी किया है, उसकी तलाश पुलिस कर रही है। पुलिस यह भी तलाश कर रही है, कि आखिर बैग किसका है और इतने रुपए लेकर कोई, कहां जा रहा था। आईजी और एसएसपी ने निलाम्बर सिन्हा को ईनाम देने की घोषणा की है।